मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने की श्री माता मनसा देवी मंदिर में पूजा-अर्चना

Date posted: September 22, 2017    4:16 PM

पंचकूला:  प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अश्विन नवरात्र मेला के दूसरे नवरात्र के अवसर पर उत्तरी भारत की ऐतिहासिक शक्ति पीठ माता मनसा देवी मंदिर में माता के दर्शन किए तथा मंदिर परिसर में स्थित यज्ञ शाला में पूजन एवं यज्ञ में भाग लिया। मंदिर परिसर में लगभग 2 करोड़ रूपए की राशि से नवनिर्मित लोकार्पण भी किया। इस लिफ्ट से माता के दर्शन के लिए वृद्धजनों, दिव्यांगों, गर्भवती महिलाओं व बीमार यात्रियों को माता के दर्शन प्राप्त करने में सुविधा होगी।  इसके बारे में और पढ़े..

नवरात्र आज से शुरू: देशभर के दुर्गा मंदिरों में उमडी श्रद्धालुओं की भीड

Date posted: September 21, 2017    2:46 PM

नई दिल्ली:  शारदीय नवरात्र आज गुरुवार से शुरू हो गए है। नौ दिनों तक चलने वाले इस महापर्व को आखिरी उपवास यानी नवमी 29 सितंबर को होगी। इस दौरान शक्ति स्वरूपा मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है। शास्त्रों के अनुसार, अश्विन मास की शुक्ल प्रतिपदा से नवमी तक नवरात्र व्रत व दुर्गा पूजन किया जाता है। इन 9 दिनों में मां दुर्गा के विभिन्न रूपों की पूजा का विधान है। नवरात्र के पहले दिन मंगल कामना के लिए कलश स्थापना का विधान है। आज शक्ति के पहले स्वरुप शैलपुत्री की आराधना की जाती है। इसके बारे में और पढ़े..

पूजन, हवन और भंडारे के साथ भागवत कथा संपन्न

Date posted: September 20, 2017    6:29 PM

नोएडा:  श्री धु्रव भक्ति सेवा आश्रम ट्रस्ट की नोएडा शाखा की ओर से आयोजित श्रीमद् भागवत कथा सप्ताह का बुधवार को कथा वाचक परम श्रद्धेय श्री बालकदास जी महाराज की देखरेख में पूजन और हवन के साथ विधिवत समापन हो गया। इसके उपरांत विशाल भंडारे का आयोजन किया, जिसमें हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया।
कथा व्यास श्री बालकदास जी महाराज ने प्रात: सात बजे से पूजन प्रारम्भ किया। उसके बाद हवन कराया। इसके उपरांत सेक्टर-31 के बी. ब्लॉक निठारी स्थित नया शिव मंदिर परिसर में विशाल भंडारे का आयोजन किया गया। इसमें पांच हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया।

इसके बारे में और पढ़े..

भागवत कथा की पूर्णाहुति पर सुनाया सुदामा चरित्र का प्रसंग: बालकदास जी

Date posted: September 19, 2017    4:19 PM

नोएडा: श्री धु्रव भक्ति सेवा आश्रम ट्रस्ट की नोएडा शाखा की ओर से आयोजित श्रीमद् भागवत कथा सप्ताह के सातवें दिन मंगलवार को कथा वाचक परम श्रद्धेय श्री बालकदास जी महाराज ने कथा की पूर्णाहुति और सुदामा चरित्र का प्रसंग सुनाया। उन्होंने कहा कि परमात्मा तो बिना मांगे की अपने भक्तों को सुख-शांति और समृद्धि देते हैं। कथा व्यास श्री बालकदास जी महाराज ने कहा कि सुदामा भगवान कृष्ण के अनन्य भक्त थे। सुदामा ने अपने जीवन में भगवान से कभी कुछ नहीं मांगा।

इसके बारे में और पढ़े..

श्रीमद् भागवत कथा की तैयारियां तेज, सदस्यों को दी गई जिम्मेदारी

Date posted: September 9, 2017    4:59 PM

नोएडा:  श्री धु्रव भक्ति सेवा आश्रम ट्रस्ट की नोएडा शाखा की ओर से 13 सितंबर से श्रीमद् भागवत कथा सप्ताह ज्ञान यज्ञ का आयोजन किया जाएगा। गोसेवा एवं हास्पिटल निर्माण के उद्देश्य को पूरा करने के लिए यह धार्मिक आयोजन 20 सितंबर तक सेक्टर-31 के बी. ब्लॉक स्थित शिव मंदिर परिसर में होगा। इसमें परम श्रद्धेय बालकदास जी महाराज भागवत कथा की अमृत वर्षा करेंगे। इस धार्मिक कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा के लिए सेक्टर-31 बी. ब्लॉक निठारी के शिव मंदिर में बैठक हुई।

इसके बारे में और पढ़े..

एकल अभिनय से तुलसीदास के जीवन का सजीव चित्रण

Date posted: August 26, 2017    7:52 PM

शनिवार की शाम तुलसीदास को नजदीक से जानने, समझने तथा उनकी कृतियों को महसूस करने का था। मंच पर विश्व विख्यात निर्देशक व कलाकार पद्मश्री शेखर सेन थे। महानगर इनकी प्रतिभा का कायल हो उठा। तीन घंटे तक तुलसीदास की श्री रामचरितमानस में हर मन खो गया। मंत्री से लेकर संतरी और आमजन से अमीर सब के सब तुलसीदास में रम गए। इस तुलसीदास को शानदार अंदाज में शेखर सेन ने जीया और सबको राम-राम, सीता-राम में खोने पर मजबूर कर दिया। काशी से अयोध्या का दर्शन कराया तो समाज को भक्ति के रंग में रंगने का भी संदेश दिया। इसके बारे में और पढ़े..

हरितालिका तीज व्रत को करने से अखंड सौभाग्य की प्राप्ति होती है

Date posted: August 24, 2017    8:22 AM

हरितालिका तीज का व्रत भाद्रपद शुक्ल की तृतीया को करने का विधान है। इस बार यह व्रत गुरुवार को है। यह व्रत द्वितीया व तृतीया तिथि के बीच न होकर अगर चतुर्थी के बीच हो तो अत्यंत शुभकारी माना जाता है, क्योंकि द्वितीया तिथि पितरों की तिथि तथा चतुर्थी तिथि पुत्र की तिथि मानी गई। इस व्रत को करने से अखंड सौभाग्य की प्राप्ति होती है। इसके बारे में और पढ़े..

जन्माष्टमी पर करें चमत्कारी बांसुरी की पूजा, फिर देखें चमत्कार

Date posted: August 15, 2017    1:48 AM

कान्हा की बांसुरी केवल गोपियों को ही नहीं खिंचती थी बल्कि मां लक्ष्मी और कुबेर को भी अपने पास बुलाने को मजबूर कर देती थी। जन्माष्टमी के दिन अगर कोई जातक कुछ खास बांसुरी की पूजा करें या फिर बासुंरी को अपने पास रखे तो बुरी आत्माएं दूर हो जाती हैं और जब इसे बजाया जाता है तो ऐसी मान्यता है कि घरों में शुभ चुम्बकीय प्रवाह का प्रवेश होता है। इसके बारे में और पढ़े..

सावन का पहला सोमवार: शिवालयों में गूंजा बोल बम, लगी भक्तों की भीड़

Date posted: July 10, 2017    9:18 AM

 आज सावन का प्रथम सोमवार है और इसके साथ ही शिवालयों में शिवजी के भक्तों की भीड़ भी देखी जा सकती है। आज सावन मास का पहला सोमवार है इसलिए सभी शिवालयों में बोल बम की गूंज सुनाई दे रही है। आज सावन के प्रथम सोमवार पर बाबा काशी विश्वनाथ के दरबार में जल चढ़ाने और बाबा काशी विश्वनाथ के सामने अपनी अर्जी लगाने वालों की भीड़ आज सुवह से देखी जा रही है। सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि यहां पर रविवार की शाम से ही शहर में कावरियों ने अपना डेरा डाला हुआ है। बताया गया है कि इस बार कांवरियों में महिला कांवरियों के साथ कुंवारी लड़कियां भी कांवर उठाएं दिखीं। इसके बारे में और पढ़े..

आगामी कुम्भ में तीर्थयात्रियों मिलेगी अच्छी सुविधाएं- केशव प्रसाद मौर्य

Date posted: May 19, 2017    2:45 PM

लखनऊ:17 मई,आगामी कुम्भ की तैयारियों के संबंध में अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महन्त नरेन्द्र गिरि ने उप मुख्यमंत्री  केशव प्रसाद मौर्य के आवास 7 कालीदास मार्ग पर भंेट की। उन्होंने कहा कि कुम्भ के दौरान बहुत बड़ी संख्या में श्रद्धालु त्रिवेणी में आते हैं अतः किसी प्रकार की अव्यवस्था न हो इसके लिए तैयारियां अभी से शुरु कर देना चाहिए। कुम्भ मेले में संतो ंके साथ-साथ विभिन्न अखाड़े भी शामिल होते हैं खासकर विशेष स्नान वर्ग पर भी भारी भीड़ होती है ऐसी दशा में हर पहलू पर विचार कर व्यवस्थायें सुनिश्चत की जानी चाहिए।
उप मुख्यमंत्री ने बताया कि कुम्भ मेले की तैयारियां शुरु कर दी गई है। भीड़ को व्यवस्थित करने हेतु रोड मैप तैयार किया जा रहा है तथा मूलभूत सुविधाएं देने के लिए तैयारियां शुरुकर दी गई है। उन्होंने कहा कि फाफामऊ सेतु का निर्माण शीघ्र करने के लिए कार्यदायी संस्था को निर्देश दिए गए है। सरकार का प्रयास है कि कुम्भ मेले में आने वाले प्रत्येक तीर्थयात्री को अच्छी से अच्छी सुविधाएं मिलें तथा प्रत्येक निर्माण कार्य स्थायी हो जो कि हमेशा मेला स्थल के लिए उपयोगी रहे और अस्थायी निर्माण पर बार-बार धन व्यय न करना पड़े। इस बात कर भी विशेष ध्यान रखा जा रहा है।
« Older Entries